Thursday, November 26, 2020
राष्ट्रीय
किसान संगठनों के प्रमुखों से मिले पंजाब के मंत्री - यात्री गाड़ियां चलाने देने की अपील

 

 तीन कृषि कानूनों के खिलाफ संघर्ष कर रहे 30 किसान संगठनों से पंजाब के मंत्रियों ने आज फिर अपील की है कि वे यात्री गाड़ियों को चलने दें। 26-27 नवंबर को दिल्ली का घेराव करने, 13 नवंबर को केंद्रीय मंत्रियों से हुई बातचीत आदि पर विचार करने के लिए बुलाई गई किसान संगठनों की मीटिंग में पंजाब के मंत्रियों ने उनसे यह अपील की। 

वहीं, किसान संगठनों ने कहा कि 13 नवंबर को हुई मीटिंग में केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल का व्यवहार सही नहीं था। वह जिस तरह से धमकी भरी बातें कर रहे थे उससे किसान नाराज नजर आए। उनसे बातचीत करके लौटे ग्रामीण विकास मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा और विधायक कुलजीत नागरा ने कहा कि घर बुलाकर किसानों को अपमानित करना पीयूष गोयल को शोभा नहीं देता।

तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा ने कहा कि आज हमने एक बार फिर से किसानों से अपील की कि रेल न चलने से पंजाब का ही नुकसान हो रहा है, इसलिए उन्हें बड़ा दिल करके रेलवे ट्रैक, परिसर आदि खाली कर देनेे चाहिए। इस पर किसानों ने उनसे कहा कि देश में 58 फीसद यात्री ट्रेनें चल रही हैं बाकी बंद हैँ, क्या वह हमारे आंदोलन के कारण बंद हैँ। राजस्थान में केवल एक ही ट्रैक पर गुर्जर आंदोलन चल रहा है, क्या वहां पूरे प्रदेश की ट्रेनें रेलवे ने बंद कर रखी हैं। किसान नेताओं ने मंत्रियों से कहा कि केंद्र सरकार केवल पंजाब को खराब करने के इरादे से कोई भी ट्रेन चलाना नहीं चाहती और इसका ठीकरा हम पर फोड़ा जा रहा है।

जम्मू-कश्मीर, लद्दाख के लिए 520 करोड़ का पैकेज

प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक मे जम्मू कश्मीर, लद्दाख के ग्रामीण क्षेत्रों में आजीविका मिशन का दायरा बढ़ाने के लिए 520 करोड़ के पैकेज की घोषणा. नई शिक्षा नीति के क्रियान्वयन के लिए भी स्टार्स प्रॉजेक्ट की घोषणा की गई. छत्तीसगढ़ के बस्तर में बन रहे नगरनार स्टील प्लांट के डी-मर्जर और डिस-इनवेस्टमेंट को भी मंज़ूरी दी गई. अबू धाबी नॅशनल ऑयल कॉर्पोरेशन के तेल भंडारण केंद्र में बेहतर कार्य प्रणाली के लिए अहम बदलावों को भी मंज़ूरी दो गई.

 

किसान संगठनों के प्रमुखों से मिले पंजाब के मंत्री - यात्री गाड़ियां चलाने देने की अपील

 

 तीन कृषि कानूनों के खिलाफ संघर्ष कर रहे 30 किसान संगठनों से पंजाब के मंत्रियों ने आज फिर अपील की है कि वे यात्री गाड़ियों को चलने दें। 26-27 नवंबर को दिल्ली का घेराव करने, 13 नवंबर को केंद्रीय मंत्रियों से हुई बातचीत आदि पर विचार करने के लिए बुलाई गई किसान संगठनों की मीटिंग में पंजाब के मंत्रियों ने उनसे यह अपील की। 

वहीं, किसान संगठनों ने कहा कि 13 नवंबर को हुई मीटिंग में केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल का व्यवहार सही नहीं था। वह जिस तरह से धमकी भरी बातें कर रहे थे उससे किसान नाराज नजर आए। उनसे बातचीत करके लौटे ग्रामीण विकास मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा और विधायक कुलजीत नागरा ने कहा कि घर बुलाकर किसानों को अपमानित करना पीयूष गोयल को शोभा नहीं देता।

तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा ने कहा कि आज हमने एक बार फिर से किसानों से अपील की कि रेल न चलने से पंजाब का ही नुकसान हो रहा है, इसलिए उन्हें बड़ा दिल करके रेलवे ट्रैक, परिसर आदि खाली कर देनेे चाहिए। इस पर किसानों ने उनसे कहा कि देश में 58 फीसद यात्री ट्रेनें चल रही हैं बाकी बंद हैँ, क्या वह हमारे आंदोलन के कारण बंद हैँ। राजस्थान में केवल एक ही ट्रैक पर गुर्जर आंदोलन चल रहा है, क्या वहां पूरे प्रदेश की ट्रेनें रेलवे ने बंद कर रखी हैं। किसान नेताओं ने मंत्रियों से कहा कि केंद्र सरकार केवल पंजाब को खराब करने के इरादे से कोई भी ट्रेन चलाना नहीं चाहती और इसका ठीकरा हम पर फोड़ा जा रहा है।

जम्मू-कश्मीर, लद्दाख के लिए 520 करोड़ का पैकेज

प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक मे जम्मू कश्मीर, लद्दाख के ग्रामीण क्षेत्रों में आजीविका मिशन का दायरा बढ़ाने के लिए 520 करोड़ के पैकेज की घोषणा. नई शिक्षा नीति के क्रियान्वयन के लिए भी स्टार्स प्रॉजेक्ट की घोषणा की गई. छत्तीसगढ़ के बस्तर में बन रहे नगरनार स्टील प्लांट के डी-मर्जर और डिस-इनवेस्टमेंट को भी मंज़ूरी दी गई. अबू धाबी नॅशनल ऑयल कॉर्पोरेशन के तेल भंडारण केंद्र में बेहतर कार्य प्रणाली के लिए अहम बदलावों को भी मंज़ूरी दो गई.

 

<November 2020>
SuMoTuWeThFrSa
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293012345