Punjab

कैप्टन अमरिन्दर के राज में बादल-परिवार का ट्रांसपोर्ट माफिया पहले की तरह कर रहा है काम -आप

Punjab Tribune Bureau | November 28, 2018 04:11 PM

नियमों की उलंघना कर दिल्ली एयरपोर्ट तक चल रही बादलों की बसें लगा रही हैं खजाने को करोड़ों का चूना


चंडीगड़: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के इंद्रा गांधी इंट्रनैशनल एयरपोर्ट तक जाती पंजाब की बसों के मुद्दे पर आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब ने दोष लगाया है कि बादल परिवार कंट्रैक्ट कैरेज में स्टेज कैरेज परमिट की तरह बसें चला रहे हैं। यह गैर कानूनी काम पंजाब सरकार की विशेष मेहरबानी से हो रहा है। इस के साथ ही ‘आप ‘ ने स्टेज कैरेज परमिट पर दिल्ली के अंतरराष्ट्रीय बस टर्मिनल तक जाती पंजाब रोडवेज और पीआरटीसी की बसों के आगे एयरपोर्ट तक रुकावट बने सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों और दिल्ली सरकार की ओर से बाहरी राज्यों के लिए तैयार की नई योजना संबंधी भी जानकारी दी। 

आज यहां प्रैस कान्फ्रेंस को संबोधन करते हुए विरोधी पक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा, सीनियर नेता और विधायक अमन अरोड़ा और विधायक प्रो. बलजिन्दर कौर ने कहा कि बादल परिवार ने अपने 10 सालों के माफिया राज दौरान नियमों-कानूनों की उलंघना कर अपने पारिवारिक हितों और निजी कारोबार को समूचे सिस्टम पर अमर वेल की तरह फैला दिया। 
बस माफिया इस की स्टीक मिसाल है। ‘आप ‘ नेताओं ने कहा कि बेशक पंजाब की जनता ने डेढ़ साल पहले बादल परिवार का तख्ता पलट कर  कैप्टन अमरिन्दर सिंह पर भरोसा जताया है परंतु बतौर मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह पंजाब और पंजाब की जनता के हित बहाल करने की बजाए आज भी बादल परिवार का साथ दे रहे हैं। इस की स्टीक मिसाल भी पंजाब से दिल्ली के एयरपोर्ट तक चलती प्राईवेट बसें हैं, जिनकी मालकी पर बादल परिवार का एकाधिकार है। 
हरपाल सिंह चीमा, अमन अरोड़ा और प्रो. बलजिन्दर कौर ने बताया कि पंजाब से दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट तक डीजल इंजन वाली जितनी भी बसें पहुंच कर रही हैं यह कंट्रैक्ट कैरेज कैटागरी की दीवार में जा रही हैं, जबकि सवारियां स्टेज कैरेज परमिट वाली बस की तरह उठा रही हैं जो पूरी तरह गैर कानूनी है और मोटर वहीकल एक्ट की उलंघना है। कैप्टन अमरिन्दर सिंह सरकार चाहे तो कानूनी तौर पर प्रात:काल ही बादलों की दिल्ली एयरपोर्ट तक जाती सभी बसों का चक्का जाम करवा सकती है। 
हरपाल सिंह चीमा ने बताया कि कंट्रैक्ट कैरेज के अंतर्गत कोई भी प्राईवेट ट्रैवल कंपनी एक एक सवारी की टिकट नहीं काट सकती और न ही मंजिल से मंजिल तक रास्ते में से किसी सवारी को चढा सकती है और न ही उतार सकती है। 
कंट्रैक्ट कैरेज परमिट के अंतर्गत बस की किसी एक पार्टी/कंपनी या समूह की तरफ से एकमुश्त बुकिंग होती है, कोई भी एक सवारी अपने स्तर पर अलग-अलग स्टेशनों की टिकट नहीं कटवा सकती। ऐसा करना गैर-कानूनी है, ऐसी गैर कानूनी प्रैक्टिस पर नजर रखना सरकार की जिम्मेदारी होती है, परंतु यहां शरेआम सरकार की नाक तले गैर कानूनी धंधा चल रहा है। सरकारी खजाने और सरकारी ट्रांसपोर्ट को करोड़ों रुपए का चूना लगा रहा है। एकाधिकार होने की सूरत में सवारियों के पास से मनमर्जी से दोगुना-तिगुना किराया वसूला जा रहा है, परन्तु सरकार सो रही है, क्योंकि बसें बादल परिवार की हैं। कैप्टन अमरिन्दर सिंह सरकार पूरी तरह बादल परिवार के साथ मिली हुई है। 
‘आप ‘ नेताओं ने मांग की है कि कैप्टन सरकार बादल परिवार के इस बस माफिया पर नकेल कसे जिस से पंजाब रोडवेज और पीआरटीसी के साथ-साथ लोगों की लूट बंद हो। 
हरपाल सिंह चीमा और अमन अरोड़ा ने बताया कि दिल्ली सरकार ने एयरपोर्ट तक जाती प्राईवेट बसों पर नकेल कसी थी, जिस के अंतर्गत बादल परिवार के साथ सम्बन्धित करीब आधी दर्जन बसों को जब्त (इम्पाऊंड) कर लिया था, परंतु वह कंट्रैक्ट कैरेज आड़ में बच निकले, जबकि पंजाब में होते इस फर्जीवाड़े को कैप्टन सरकार जल्द पकड़ सकती है, क्योंकि यह न सिर्फ एक-एक सवारी की टिकट काटते हैं बल्कि आनलाइन सिंगल बुकिंग भी करते हैं। ‘आप ‘ नेताओं ने कहा कि बसों के टाईम टेबल में चल रहे हेर-फेर के कारण भी बादलों की बसों के मुकाबले सरकारी बसों को बहुत कम रूट दिए गए हैं। 
    पीआरटीसी और पंजाब रोडवेज की बसों को दिल्ली आईएसबीटी से एयरपोर्ट तक न जाने पर स्पष्ट करते हुए ‘आप ‘ नेताओं ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों मुताबिक बाहरी राज्यों के साथ सम्बन्धित कोई भी नान-सीऐनजी बस /व्हीकल स्टेज कैरेज परमिट पर दिल्ली आईएसबीटी से आगे नहीं जा सकता। पंजाब समेत अन्य राज्यों की स्टेज कैरेज परमिट वाली बसों के दिल्ली एयरपोर्ट तक जाने की मनाही दिल्ली सरकार की नहीं बल्कि सुप्रीम कोर्ट की तरफ से लगी हुई है। 
    हरपाल सिंह चीमा, अमन अरोड़ा और प्रो. बलजिन्दर कौर ने बताया कि उन्होंने यह मसला दिल्ली के मुख्य मंत्री अरविन्द केजरीवाल सरकार के पास उठाया है, इस को गंभीरता के साथ लेती दिल्ली सरकार ने दिल्ली के इंट्रनैशनल एयरपोर्ट नजदीक द्वारका में एक नया आईएसबीटी स्थापित करने की योजना तैयार की है। इस मौके उनके साथ आम आदमी पार्टी लीगल विंग के प्रधान जसतेज अरोड़ा, ‘आप ‘ नेता जसवीर सिंह गिल और गुरविन्दर सिंह पाबला मौजूद थे।  

Have something to say? Post your comment
Must Read
ECI gives permission to conduct interviews in two government medical colleges
ECI gives permission to conduct interviews in two government medical colleges
7th Session of 15th Punjab Vidhan Sabha Prorogued
7th Session of 15th Punjab Vidhan Sabha Prorogued
Badals, not us, delayed AIIMS Bathinda: Brahm Mohindra
Badals, not us, delayed AIIMS Bathinda: Brahm Mohindra
District administration to hold special awareness camp for PWD voters on March 25
District administration to hold special awareness camp for PWD voters on March 25
Jalandhar to wage war against tb by engaging community in eradication program- Deputy Commissioner
Jalandhar to wage war against tb by engaging community in eradication program- Deputy Commissioner
MP Santokh Singh Chaudhary hails Rahul Gandhi’s promise of Minimum Income Guarantee to 25 crore poor
MP Santokh Singh Chaudhary hails Rahul Gandhi’s promise of Minimum Income Guarantee to 25 crore poor
CEO Punjab suspends election Tehsildar Moga
CEO Punjab suspends election Tehsildar Moga
Stick to deadline of March 31 to complete work at PAP flyover: DC tells company
Stick to deadline of March 31 to complete work at PAP flyover: DC tells company
World's largest Certification Authority ‘EC-Council’ confirms 33 LPU Students as ‘Certified Ethical Hackers’
World's largest Certification Authority ‘EC-Council’ confirms 33 LPU Students as ‘Certified Ethical Hackers’
CM mourns passing away of former Punjab Senior Bureaucrat Shivinder Singh Brar
CM mourns passing away of former Punjab Senior Bureaucrat Shivinder Singh Brar
DC leads hundreds of volunteers to pledge for further wiping out the curse of drugs from the Jalandhar
DC leads hundreds of volunteers to pledge for further wiping out the curse of drugs from the Jalandhar
‘Kesari' epitomizes never say die spirit of Sikhs
‘Kesari' epitomizes never say die spirit of Sikhs